भरतपुर के लक्ष्मण मंदिर के दर्शन की जानकारी – Laxman Temple Bharatpur In Hindi

Laxman Temple Bharatpur In Hindi, भरतपुर शहर के केंद्र में स्थित लक्ष्मण मंदिर भरतपुर के लोकप्रिय मंदिरों में से एक है। लक्ष्मण मंदिर के मुख्य देवता लक्ष्मणजी और उर्मिला जी हैं, लेकिन उनके अलावा मंदिर में राम, भरत, शत्रुघ्न और हनुमान जी की छोटी मूर्तियाँ भी स्थापित हैं जो सभी अष्टधातु से मिलकर बनी हुई है। लक्ष्मण मंदिर श्रद्धालुयों के लिए भरतपुर का महत्वपूर्ण आस्था केंद्र बना हुआ है। जो प्रत्येक बर्ष कई हजारो श्रद्धालुयों और पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता है।
आपको बता दे भरतपुर शहर के मध्य में दो लक्ष्मण मंदिर हैं, जिसमें से एक मंदिर लगभग 4 शताब्दी पुराना है और दूसरा लगभग 300 वर्ष पुराना है, जिसको भरतपुर के संस्थापक महाराजा बलदेव सिंह द्वारा बनाया गया है। अगर आप भरतपुर की यात्रा पर हैं तो आपको लक्ष्मण मंदिर के दर्शन करने के लिए जरुर जाना चाहिए।

Table of Contents

लक्ष्मण मंदिर भरतपुर का इतिहास –  Laxman Temple Bharatpur History In Hindi

लक्ष्मण मंदिर भरतपुर का इतिहास
Image Credit: Sumeet Singroha

लक्ष्मण मंदिर भरतपुर का इतिहास लगभग 300 साल और 4 शताब्दी के पूर्व का माना जाता है। कहा जाता है की भरतपुर के तत्कालीन राजा अपने शासन के अंतिम दिनों में श्री संत दास से मिले जो लक्ष्मणजी के महान भक्त थे और हमेशा उनके प्रति समर्पित रहे। और उन्ही की प्रेरणा से महाराजा बलदेव सिंह ने लक्ष्मण मंदिर मंदिर के नीव रखी और अपने बेटे बलबंत सिंह को अपना उत्तराधिकारी राजा घोषित किया। और महाराजा बलवंत सिंह ने अपने शासन में इस मंदिर का निर्माण पूरा करवाया। और माना जाता है भरतपुर का शाही परिवार दोनों लक्ष्मण मंदिरों को अपना शाही मंदिर मानता है।

लक्ष्मण मंदिर की वास्तुकला – Bharatpur Laxman Temple Architecture In Hindi

लगभग 300 साल पूर्व निर्मित लक्ष्मण मंदिर बड़ी ही खूबसूरती के साथ बलुआ पत्थर और संगमरमर से मिलकर बना हुआ है। जिसमे भगवान लक्ष्मण और उनकी पत्नी उर्मिला दोनों की मूर्तियाँ की स्थापित है उनके अलावा राम, भरत, शत्रुघन और हनुमान जी की छोटी मूर्तियाँ भी स्थापित हैं जो सभी अष्टधातु से मिलकर बनी हुई है। और मंदिर जटिल नक्काशीदार दरवाजे, अलंकृत दीवारें, भव्य मेहराबो से सुसज्जित है।

और पढ़े : चामुंडा माता का मंदिर जोधपुर के दर्शन की जानकारी

भरतपुर के लक्ष्मण मंदिर खुलने और बंद होने का समय – Laxman Temple Bharatpur Timing In Hindi

आपको बता दे लक्ष्मण जी मंदिर श्रद्धालुयों और पर्यटकों के घूमने के लिए प्रतिदिन सुबह 6.00 बजे से देर रात तक खुला रहता है।

लक्ष्मण मंदिर भरतपुर का प्रवेश शुल्क – Laxman Temple Entry Fees In Hindi

लक्ष्मण मंदिर में भारत के अन्य मंदिरों के तरह श्रद्धालुयों और पर्यटकों के प्रवेश के लिए कोई प्रवेश शुल्क नही लिया जाता है, यहाँ आप बिना किसी एंट्री फीस के घूम और भगवान राम, लक्ष्मण और अन्य देवतायों के दर्शन कर सकते है।

लक्ष्मण मंदिर भरतपुर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Laxman Temple Bharatpur In Hindi

Best Time To Visit Laxman Temple Bharatpur In Hindi

अगर आप अपने परिवार या दोस्तों के साथ लक्ष्मण मंदिर घूमने जाने की योजना बना रहे है तो हम आपको बता दे वैसे तो आप मंदिर की साल के किसी भी समय यात्रा कर सकते हैं। लेकिन अगर आप लक्ष्मण मंदिर के साथ- साथ भरतपुर के अन्य पर्यटक स्थल घूमने जाना चाहते है तो हम आपको बता दे रेगिस्तानी क्षेत्र होने की वजह से राजस्थान गर्मियों में बेहद गर्म होती है, इसीलिए माधोपुर घूमने के लिए सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च तक का समय होता है। सर्दियों का मौसम इस शहर की यात्रा करना एक अनुकूल समय होता है।

और पढ़े : नारायणी माता मंदिर के दर्शन की जानकारी

लक्ष्मण मंदिर के आसपास में घूमने लायक जगह – Tourist Places Around Laxman Temple Bharatpur In Hindi

अगर आप भरतपुर में लक्ष्मण मंदिर घूमने जाने का प्लान बना रहे है तो हम आपको बता दे भरतपुर में लक्ष्मण मंदिर, के अलावा भी अन्य लोकप्रिय पर्यटक स्थल है जिन्हें आप अपनी भरतपुर की यात्रा दोरान घूम सकते हैं।

  • केवलादेव नेशनल पार्क
  • लोहागढ़ किला
  • गंगा मंदिर
  • भरतपुर पैलेस और संग्रहालय
  • डीग

और पढ़े : दौसा जिले के मशहूर पर्यटन स्थल घूमने की पूरी जानकारी

भरतपुर लक्ष्मण मंदिर कैसे पहुंचें – How To Reach Laxman Temple Bharatpur In Hindi

अगर आप राजस्थान के प्रमुख शहर भरतपुर में लक्ष्मण मंदिर घूमने जाने का प्लान बना रहे है तो हम आपको बता दे भरतपुर अपने आसपास के प्रमुख शहरों से सड़क और रेल के माध्यम से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। तो आप सड़क, रेल या हवाई मार्ग में से किसी का भी चुनाव करके लक्ष्मण मंदिर भरतपुर पहुंच सकते हैं।

फ्लाइट से लक्ष्मण मंदिर भरतपुर कैसे पहुंचे – How To Reach Laxman Temple Bharatpur By Flight In Hindi

फ्लाइट से लक्ष्मण मंदिर भरतपुर कैसे पहुंचे - How To Reach Laxman Temple Bharatpur By Flight In Hindi

अगर आप फ्लाइट से लक्ष्मण मंदिर भरतपुर की यात्रा करना चाहते हैं तो बता दें कि यहां के लिए सीधी कनेक्टिविटी उपलब्ध नहीं है। इस शहर का निकटतम हवाई अड्डा आगरा में स्थित है भरतपुर से 50 किलोमीटर की दूरी पर है लेकिन आगरा के लिए देश के प्रमुख शहरों से बहुत कम उड़ाने संचालित है। जयपुर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा (180 किलोमीटर) और दिल्ली हवाई अड्डा (200 किलोमीटर) आगरा की तुलना में काफी अच्छा और सस्ता साबित हो सकता है।

सड़क मार्ग से लक्ष्मण मंदिर भरतपुर कैसे जाये – How To Reach Laxman Temple By Road In Hindi

सड़क मार्ग से लक्ष्मण मंदिर भरतपुर कैसे जाये – How To Reach Laxman Temple By Road In Hindi

अगर आप लक्ष्मण मंदिर भरतपुर की यात्रा सड़क माध्यम से कर रहे हैं तो बता दें कि यह शहर मथुरा से सिर्फ एक घंटे की ड्राइव स्थित हैं इसके अलवा यह भारत के प्रमुख शहरों जैसे दिल्ली, आगरा से भी ज्यादा दूर नहीं है। अगर आप पूर्वी ओर से ड्राइव करने की योजना बना रहे हैं तो यह आपके लिए एक आरामदायक और मजेदार यात्रा साबित हो सकती है। भरतपुर जयपुर से भी एक राष्ट्रीय राजमार्ग के माध्यम से जुड़ा हुआ है जिससे आपको इस शहर तक पहुंचने में ज्यादा दिक्कत नहीं होगी।

ट्रेन से भरतपुर लक्ष्मण मंदिर कैसे जाये – How To Reach Laxman Temple By Train In Hindi

ट्रेन से भरतपुर लक्ष्मण मंदिर कैसे जाये - How To Reach Laxman Temple By Train In Hindi

अगर आप ट्रेन के माध्यम से लक्ष्मण मंदिर भरतपुर शहर की यात्रा करने जा रहे हैं तो आपको बता दें कि यह शहर सुविधाजनक रूप से दिल्ली-आगरा और दिल्ली-मुंबई ट्रेन मार्ग पर स्थित है। यहां देश के कई शहरों से चलने वाली ट्रेन रूकती हैं। दिल्ली से भरतपुर को जोड़ने के लिए 50 से अधिक ट्रेनें हैं, उनमे से कई ट्रेन जयपुर और आगरा से भी है। मुंबई या कोलकाता जैसे शहरों से भी भरतपुर के लिए कुछ ट्रेन उपलब्ध हैं लेकिन इसके लिए आपको ट्रेनों के बारे में जानकारी लेनी होगी।

और पढ़े : भरतपुर के दर्शनीय स्थल घूमने की जानकारी

लक्ष्मण मंदिर भरतपुर का नक्शा – Laxman Temple Bharatpur Map

लक्ष्मण मंदिर की फोटो गैलरी – Bharatpur Laxman Temple Images

https://www.instagram.com/p/BdpzYculzcV/?utm_source=ig_web_button_share_sheet

और पढ़े :

Leave a Comment