ओरछा के प्रमुख पर्यटन स्थल और यात्रा से जुड़ी पूरी जानकारी  – Famous Tourist places of Orchha in Hindi

Famous Tourist places of Orchha in Hindi : ओरछा मध्य प्रदेश के बेतवा नदी कि किनारे स्थित एक सुन्दर नगर है, जिसे मध्य प्रदेश का शाही शहर भी कहा जाता है। बता दे प्राचीन में ओरछा को “उरछा” के नाम से भी जाना जाता है। मध्य प्रदेश टुरिसम को बढ़ाता हुआ “ओरछा” इंडिया का महत्वपूर्ण हिस्सा है, जो बुंदेला युग का स्मरण कराता है। ओरछा को इतिहास शौकीनों के घूमने के लिए मध्यप्रदेश की सबसे अच्छी जगहें में से माना जाता है। जब भी आप ओरछा घूमने जायेगें तो आपको यहां बिभिन्न हिस्ट्रीकल प्लेसेस, टेम्पल्स, फोर्ट और अन्य टूरिस्ट अट्रेक्शन देखने को मिलेगें, जो हर साल हजारों पर्यटकों की मेजबानी करता है।

ओरछा मध्य प्रदेश का ऐसा टूरिस्ट प्लेस है, जो फ्रेंड्स टूर, फैमली वेकेशन और यहाँ तक की न्यू मेरिड कपल्स के लिए भीं इंडिया की बेस्ट हॉलिडे डेस्टिनेशन में से एक माना जाता है। ओरछा के महलों और मंदिरों की मध्ययुगीन वास्तुकला फोटोग्राफरों के लिए भी अट्रेक्शन का केंद्र बनी हुई है।

तो आइये इस आर्टिकल के माध्यम से हम ओरछा का इतिहास, ओरछा के प्रमुख पर्यटक स्थल और ओरछा की यात्रा से जुड़ी पूरी इन्फोर्मेशन को डिटेल में जानते है-

Table of Contents

 ओरछा का इतिहास – History of Orchha in Hindi

बेतवा नदी के तट पर स्थित “ओरछा का इतिहास” 16 वीं शताब्दी के आसपास से जाना जाता है। ओरछा शहर की स्थापना 16 वीं शताब्दी में रुद्र प्रताप सिंह द्वारा की गयी थी, जो बुंदेला राजवंश से संबंधित राजपूत शासकों में से एक थे, और बुंदेलखंड के जिले पर शासन करते थे।

18 वीं शताब्दी में, शक्तिशाली मराठा सेनाएं ओरछा को छोड़कर बुंदेला के सभी राज्यों पर कब्जा करने में सफल रहीं थी।

1783 में, टिहरी (टीकमगढ़) को ओरछा की राजधानी बना दिया गया। 20 वीं शताब्दी की शुरुआत में ओरछा बुंदेलखंड क्षेत्र में सबसे प्राचीन और समृद्ध राज्य था और अंत में स्वतंत्रता के बाद, ओरछा वर्ष 1956 से मध्य प्रदेश राज्य का हिस्सा बन गया।

ओरछा में घूमने 11 सबसे अच्छी जगहें – 11 Best places to visit in Orchha in Hindi

ओरछा फोर्ट – Orchha Fort in Hindi

ओरछा फोर्ट – Orchha Fort in Hindi
Image Credit : Divakaran Pk

बेतवा नदी के तट पर स्थित “ओरछा फोर्ट” ओरछा में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहें (Famous Tourist places of Orchha in Hindi) में से एक है, यह किला ओरछा पर्यटन का इम्पोर्टेंट पार्ट है जो टूरिस्टों, हिस्ट्री लवर्स और आर्किटेक्चर लवर्स के लिए अट्रेक्शन का केंद्र बना हुआ है।

बता दे ओरछा फोर्ट का निर्माण 16 वीं शताब्दी में बुंदेला रुद्र प्रताप सिंह द्वारा बनाया गया था, जिसे पूरा होने में कई साल लग गये थे।

जब भी आप ओरछा फोर्ट जायेंगे तो आपको यहाँ किले, महल, मंदिर और ऐतिहासिक स्मारको जैसी कई संरचनायें देखने को मिलेगी।

इनके अलावा ओरछा फोर्ट की यात्रा में आप यहाँ ऑर्गेनाइज होने वाले लाइट एंड साउंड शो में भी पार्टीस्पेट कर सकते है, जो पर्यटकों की बड़ी संख्या को अपनी तरफ अट्रेक्ट करता है।

ओरछा फोर्ट की टाइमिंग

  • सुबह 6.00 बजे से शाम 6.00 बजे तक

ओरछा फोर्ट की एंट्री फीस 

  • इंडियन टूरिस्ट्स के लिए : 10 रूपये
  • फॉरेनर्स टूरिस्ट्स के लिए : 250 रूपये

जहागीर महल – Jahangir Mahal Orchha in Hindi

जहागीर महल – Jahangir Mahal Orchha in Hindi
Image Credit : Soham Deshmukh

जहागीर महल ओरछा के प्रमुख पर्यटक स्थल (Famous Tourist places of Orchha in Hindi) में से एक है। मुगलों के लिए एक गैरीसन और गढ़ के रूप में निर्मित, जहागीर महल का निर्माण 1598 में भरत भूषण द्वारा पूरा किया गया था, जब उन्होंने बुंदेला के वीर देव सिंह को हराया था।

यह स्थान मुगल वास्तुकला का उत्कृष्ट उदाहरण है, जिसमे महल के गुंबदों को तैमूर संस्कृति के अनुसार बनाया गया है, इसके अलावा महल के द्वार भी इतने विशाल है, की सीधे हाथी भी महल में प्रवेश कर सकते है।

यदि आप अपने फ्रेंड्स या फैमली के साथ ओरछा के बेस्ट टूरिस्ट प्लेसेस की ट्रिप पर जाने वाले है तो अपनी ट्रिप में जहागीर महल को शामिल अवश्य करें।

राम राजा मंदिर – Ram Raja Temple Orchha in Hindi

राम राजा मंदिर – Ram Raja Temple Orchha in Hindi
Image Credit : Bunnyy

राम राजा मंदिर ओरछा की यात्रा में घूमने के लिए सबसे अच्छी और पवित्र जगहें में से एक है। राम राजा मंदिर देश का एकमात्र एक ऐसा मंदिर है, जहाँ भगवान राम को राजा के रूप में पूजा जाता है। यह मंदिर बर्षो से पहले मधुकर शाह के लिए एक महल था, जिसे बाद भगवान राम के भव्य मंदिर के रूप में परिवर्तित किया गया था।

इस मंदिर से एक दिलचस्प कहानी जुड़ी है, जिसके अनुसार माना जाता है, की इस मंदिर में स्थापित भव्य मूर्ति को चतुर्भुज मंदिर में स्थापित करना था। लेकिन मूर्ति को एक बार जमीन में रखने के बाद उसे परिवर्तित नही किया जा सकता था, इसी कारण इस महल को भगवान राम के मंदिर में रूप में परिवर्तित कर दिया गया था, जो आज देश भर के श्र्धालुयों और पर्यटकों के लिए आस्था का केंद्र बना हुआ है।

राजमहल ओरछा – Raja Mahal, Orchha in Hindi

राजमहल ओरछा – Raja Mahal, Orchha in Hindi
Image Credit : Peter Leu

ओरछा फोर्ट कॉम्प्लेक्स में स्थित “राजमहल या राजा महल” ओरछा पर्यटन का एक और महत्वपूर्ण हिस्सा है, जो हर साल हजारों पर्यटकों को अपनी तरफ अट्रेक्ट करने में कामयाब होता है। 17 वीं शताब्दी के दौरान निर्मित राजमहल का निर्माण त्रुटिहीन वास्तुकला और लुभावनी भव्यता के साथ खूबसूरती से किया गया है। महल में शानदार मीनारें और शानदार भित्ति चित्र मौजूद है, जो यहाँ आने वाले पर्यटकों और कला प्रेमियों के लिए आकर्षण का केंद्र बने हुए है।

चतुर्भुज मंदिर ओरछा – Chaturbhuj Temple Orchha in Hindi

चतुर्भुज मंदिर ओरछा – Chaturbhuj Temple Orchha in Hindi
Image Credit : Abhishek Mahajan

875 ईस्वी में गुर्जर प्रतिहार वंश के शासनकाल के दौरान निर्मित “चतुर्भुज मंदिर” ओरछा के प्रसिद्ध मंदिर में से एक है। चतुर्भुज मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित है, जो श्र्धालुयों के लिए आस्था का केंद्र बना हुआ है। मंदिर का एक बड़ा हिस्सा अभी तक अधूरा है,जो एक दिलचस्प तथ्य बना हुआ है, और इसे इतिहास प्रेमियों के लिए ओरछा के प्रमुख पर्यटक स्थल में से एक बनाता है।

चतुर्भुज मंदिर से एक और दिलचस्प तथ्य जुड़ा हुआ, जिसके अनुसार माना जाता है कि यह मंदिर शुरू में भगवान राम को समर्पित था, जहाँ भगवान विष्णु की चार भुजाओं वाली मूर्ति ने खुद को स्थापित किया और मंदिर को चतुर्भुज मंदिर के रूप में पहचान दी थी।

यदि आप ओरछा के प्रमुख पर्यटक स्थल (Best places to visit in Orchha in Hindi) की यात्रा पर जा रहे है, तो आपको अपनी ट्रिप में आध्यात्मिकता का अनुभव करने और भगवान विष्णु के चतुर्भुज रूप के दर्शन के लिए यहाँ जरूर आना चाहिये।

और पढ़े : अमरकंटक धाम की यात्रा और इसके पर्यटक स्थल

बेतवा नदी ओरछा – Betwa river Orchha in Hindi

बेतवा नदी ओरछा - Betwa river Orchha in Hindi
Image Credit : Ankit Dixit

बेतवा रिवर ओरछा में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहें (Best places to visit in Orchha in Hindi) में से एक है। बेतवा रिवर ओरछा की ट्रिप में घूमने के लिए एक ऐसी जगह है, जहाँ आप ओरछा के फेमस हिस्ट्रीकल प्लेस और टेम्पलस घूमने के बाद, बेतवा रिवर में राफ्टिंग और बोट राइड जैसी एक्साईटेड एक्टिविटीज को एन्जॉय कर सकते है, और घाट के किनारे आरामदायक समय व्यतीत कर सकते है।

फूल बाग ओरछा – Phool Bagh Orchha in Hindi

फूल बाग ओरछा के आकर्षक स्थल में, एक और खूबसूरत जगह है,जो हरी भरी हरियाली से भरा हुआ है। फूल बाग़ या फूल गार्डन में कई फव्वारे भी मौजूद हैं, जो इसकी सुन्दरता में चार चाँद लगाने का कार्य करते है। बता दे फूल बाग का निर्माण राजकुमार दीनन हरदौल के लिए एक स्मारक के रूप में किया गया था, जिन्होंने अपने बड़े भाई के लिए अपनी बेगुनाही को चिह्नित करने के लिए आत्महत्या कर ली थी।

यह खुबसूरत जगह ओरछा के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल की यात्रा पर आने वाले पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है, जहाँ लगभग सभी टूरिस्ट अपनी ट्रिप में यहाँ आना पसंद करते है।

लक्ष्मी नारायण मंदिर ओरछा – Lakshminarayan Temple, Orchha in Hindi

लक्ष्मी नारायण मंदिर ओरछा - Lakshminarayan Temple, Orchha in Hindi
Image Credit : Vijay Kumar

धन और सौभाग्य की देवी लक्ष्मी जी को समर्पित लक्ष्मी नारायण मंदिर ओरछा के प्रसिद्ध मंदिर में से एक है। इस मंदिर का निर्माण 16 वीं शताब्दी में बीर सिंह देव द्वारा बनाया गया था।

लक्ष्मी नारायण मंदिर श्रद्धालुयों के साथ साथ कला प्रेमियों के लिए अट्रेक्शन का केंद्र बना हुआ है, क्योंकि इस मंदिर में एक अनूठी वास्तुकला है जो एक किले और मंदिर के सांचों का अद्भुद मिश्रण है।

इसके अलावा मंदिर की दीवारों पर की गयी सुंदर चित्रकारी भी देखने लायक है। मंदिर से जुड़ी एक और दिलचस्प बात यह भी है की मंदिर में अभी भी लक्ष्मी की मूर्ति मौजूद नहीं है।

और पढ़े: खजुराहो दर्शनीय स्थल, मंदिर और घूमने की जगह 

छत्रियां ओरछा – Chattris Orchha in Hindi

छत्रियां ओरछा – Chattris Orchha in Hindi
Image Credit : Avinash Juaria

बेतवा नदी के तट पर स्थित, छत्रियां ओरछा के महाराजायों की कब्रे है, जो ओरछा की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और अतीत की भव्यता के प्रतीक भी हैं। इस जगह 14 छत्रियां स्थित है जिनका निर्माण बुन्देलखण्ड के राजायों के सम्मान में किया गया था।

इन छत्रियों की अनूठी वास्तुकला शैली और सुंदर डिजाइन पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।

छत्रियों के आकर्षण का सबसे अच्छा अनुभव तब होता है, जब इन्हें नदी के विपरीत दिशा में एक पुल से देखा जाये, क्योंकि यहाँ से देखने पर छत्रियों के सुंदर प्रतिबिंब को देखा जा सकता है जो बाकई अद्भुद और मनमोहक दृश्य होता है।

ओरछा वन्य जीव अभ्यारण ओरछा – Orchha Wildlife Sanctuary Orchha in Hindi

ओरछा वन्य जीव अभ्यारण ओरछा – Orchha Wildlife Sanctuary Orchha in Hindi
Image Credit : Afsarul Haq

ओरछा में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहें (Best places to visit in Orchha in Hindi) में से एक ओरछा वन्य जीव अभ्यारण उन पर्यटकों के लिए आदर्श जगह है, जो वन्य जीवो को नजदीक से देखना पसंद करते है। 1994 में स्थापित ओरछा वन्य जीव अभ्यारण लगभग 46 वर्ग किमी आकार में फैला हुआ है।

जब भी आप ओरछा वन्य जीव अभ्यारण की यात्रा पर जायेगें, तो आप यहाँ तेंदुए, बाघ, सियार, बंदर, मोर समेत बिभिन्न वन्य जीवो और प्रवासी पक्षीयों की प्रजातियों को देख सकगें।

दाउजी की हवेली ओरछा – Dauji ki haveli, Orchha in Hindi

जहागीर महल के उत्तर में स्थित “दाउजी की हवेली” ओरछा में घूमने के लिए एक और आकर्षक जगह है। दाउजी की हवेली का निर्माण 17 वीं शताब्दी में बनाया गया था, जो वर्तमान में बड़े क्षेत्र और खंडहर संरचना के कारण पर्यटकों को आकर्षित करता है।

“दाऊजी की हवेली” में खूबसूरत भित्ति चित्र भी मौजूद हैं, जो सदियों से अच्छी तरह से संरक्षित हैं, जिन्हें आप दाउजी की हवेली की यात्रा में देख सकेगें।

इतिहास में रूचि रखने वाले पर्यटकों के लिए दाउजी की हवेली ओरछा की एक और महत्वपूर्ण जगह है जो हर साल बड़ी संख्या में पर्यटकों और इतिहास प्रमियों को आकर्षित करती है।

ओरछा घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit Orchha in Hindi

ओरछा घूमने जाने का सबसे अच्छा समय - Best time to visit Orchha in Hindi

अक्टूबर से मार्च का समय ओरछा घूमने जाने का बेस्ट टाइम होता है, क्योंकि इस दौरान ओरछा का मौसम काफी सुखद और कम्फर्टेबल है, जो टूरिस्टों को काफी अट्रैक्टिव लगता है। अक्टूबर से दशहरा, दीपावली जैसे फेस्टिवल की शुरुआत और सर्दियों में शहर का सुहावना मौसम, इसे ओरछा के ऐतिहासिक और वास्तुशिल्प की खोज के लिए यह एक आदर्श समय बनाते है।

इसके अलावा यदि आप चाहे तो मानसून में भी ओरछा की यात्रा कर सकते है क्योंकि यहाँ बारिश औसत रूप में ही होती है।

लेकिन हम आपको अप्रैल से शुरू होने वाली गर्मियों में ओरछा की ट्रिप से बचने की सलाह देगें, क्योंकि इस समय यहाँ का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुच जाता है, जो आपकी ट्रिप में खलल पैदा कर सकता है।

और पढ़े: उज्जैन के आध्यात्मिक शहर की यात्रा

ओरछा में रुकने के लिए होटल्स – Hotels in Orchha in Hindi

ओरछा में रुकने के लिए होटल्स – Hotels in Orchha in Hindi

ओरछा में रुकने के लिए होटल्स को सर्च करने वाले टूरिस्टों की इन्फोर्मेशन के लिए बता दे, ओरछा में लो बजट से लेकर हाई बजट तक सभी टाइप की होटल्स अवेलेबल है, जिनका आप अपनी चॉइस और बजट के अनुसार से सिलेक्शन कर सकते है।

  • निलयम हेरिटेज ओरछा (Nilayam Heritage , Orchha)
  • सनसेट बेकपैकर्स हॉस्टल (Sunset Backpackers Hostel)
  • श्री राम होमस्टे Shree (Ram homestay)
  • एमपीटी शीश महल (MPT Sheesh Mahal, Orchha)
  • होटल दीप रीजेंसी (Hotel Deep Regency)

ओरछा केसे जायें – How to Reach Orchha in Hindi

यदि आप अपने फ्रेंड्स के साथ ओरछा घूमने जाने का प्लान बना रहे है, और सर्च कर रहे है की हम ओरछा केसे जायें ? तो हम आपकी इन्फोर्मेशन के लिए बता दे आप फ्लाइट, ट्रेन या रोडवे में से किसी से भी ट्रेवेल करके ओरछा जा सकते है।

तो आइये नीचे डिटेल में जानते की हम फ्लाइट, ट्रेन या रोडवे से ओरछा केसे पहुंचे-

फ्लाइट से ओरछा केसे जायें – How to Reach Orchha in Flight in Hindi

फ्लाइट से ओरछा केसे जायें – How to Reach Orchha in Flight in Hindi

यदि आपने ओरछा ट्रिप पर जाने के लिए फ्लाइट के ऑप्शन को सिलेक्ट किया है तो हम आपकी इन्फोर्मेशन के लिए बता दे ओरछा के लिए कोई डायरेक्ट फ्लाइट कनेक्टविटी नही है। ओरछा का सबसे निकटतम एयरपोर्ट खुजराहो एयरपोर्ट ग्वालियर में है, जो ओरछा से लगभग 140 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। खुजराहो एयरपोर्ट ग्वालियर एयरपोर्ट पहुचने के बाद आप बस, टेक्सी या केब बुक करके ओरछा पहुंच सकते हैं।

ट्रेन से ओरछा केसे जाएँ – How to Reach Orchha in Train in Hindi

ट्रेन से ओरछा केसे जाएँ – How to Reach Orchha in Train in Hindi

यदि आपने ओरछा की यात्रा के लिए ट्रेन से ट्रेवल करना चाहते है, तो ट्रेन से यात्रा करना कम्फर्टेबले और बेस्ट ऑप्शन हो सकता है क्योंकि ओरछा का सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन झाँसी में स्थित है, जो ओरछा से सिर्फ 18 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

झाँसी रेलवे स्टेशन का रूट भारत के सबसे लम्बे रूटों में से एक है, जो भारत के सभी प्रमुख शहरों से रेल मार्ग द्वारा जुड़ा है। ट्रेन से ट्रेवल करके झाँसी रेलवे स्टेशन पहुचने के बाद आप स्थानीय वाहनों की मदद से आसानी से ओरछा जा सकते है।

सड़क मार्ग से ओरछा केसे जाएँ – How to Reach Orchha Road way in Hindi

सड़क मार्ग से ओरछा केसे जाएँ – How to Reach Orchha Road way in Hindi

जो टूरिस्ट रोडवे या बस से ट्रेवल करके ओरछा जाना चाहते है, तो हम उनकी इन्फोर्मेशन के लिए बता दे, झाँसी बस स्टेण्ड ओरछा का सबसे नजदीकी बस स्टेण्ड है। झाँसी के लिए मध्यप्रदेश के सभी प्रमुख शहरों से नियमित रूप से बसें संचालित की जाती है। जबकि ओरछा झाँसी के माध्यम से सड़क मार्ग द्वारा मध्यप्रदेश के सभी प्रमुख शहरों से भी अच्छी तरह कनेक्ट है इसीलिए ओरछा फोर्ट की ट्रिप के लिए आप अपने निजी वाहन से भी ट्रेवल कर सकते है।

और पढ़े : मध्य प्रदेश पर्यटन में घूमने के लिए बेस्ट 35 जगह

इस आर्टिकल में आपने ओरछा की हिस्ट्री, ओरछा के बेस्ट टूरिस्ट प्लेसेस, Famous Tourist places of Orchha in Hindi और ओरछा ट्रिप से रिलेटेड अन्य इन्फोर्मेशन को डिटेल में जाना है, आपको हमारा ये आर्टिकल केसा लगा हमने कमेंट्स में जरूर बतायें।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

ओरछा का मेप – Map of orchha in Hindi

और पढ़े:

Featured Image Credit: CA Kuldeep Arora

Leave a Comment