महाराष्ट्र के प्रमुख राष्ट्रीय उद्यानो के नाम और उनकी जानकारी – Famous National Parks Of Maharashtra In Hindi

Famous National Parks Of Maharashtra In Hindi, महाराष्ट्र भारत का एक प्रमुख राज्य है जिसको ‘गेटवे ऑफ द हार्ट ऑफ इंडिया’ भी कहा जाता है। महाराष्ट्र देश के दूसरे कई राज्यों की तुलना में काफी बड़ा है। पश्चिमी घाट से निकटता के कारण यह हर तरफ पहाड़ों की सुरम्य पृष्ठभूमि से धन्य है और दूसरी तरफ सुंदर कोंकण तट है। महाराष्ट्र हर साल अपने असीमित आकर्षणों की वजह से पर्यटकों को आमंत्रित करता है। महाराष्ट्र के राष्ट्रीय उद्यान क्षेत्र की समृद्ध जैव विविधता का प्रदर्शन करते हैं। जो पर्यटकों और वन्यजीव प्रेमियों के लिए आकर्षण का केंद्र बने हुए है। महाराष्ट्र में तडोबा और भामरागड़ जैसे कई राष्ट्रीय उद्यान स्थित जहाँ पर्यटक बाघ, नीले बैल, तेंदुए, मोर और क्षेत्र के अन्य दुर्लभ जानवरों को देख सकते हैं। साथ ही आप इन स्थानों की प्राकृतिक प्राकृतिक सुंदरता को भी देख सकते है।

तो आज हम यहाँ हमारे इस लेख में महाराष्ट्र के प्रसिद्ध राष्ट्रीय उद्यानो और वन्य जीव अभयारण्यों की जानकारी देने जा रहे हैं* महाराष्ट्र के फेमस नेशनल पार्को की जानकारी के लिए आप हमारे इस लेख को पूरा अवश्य पढ़े  –

Table of Contents

ताडोबा राष्ट्रीय उद्यान – Tadoba national park In Hindi

ताडोबा राष्ट्रीय उद्यान - Tadoba national park In Hindi

अपनी प्राकृतिक विरासत के लिए जाने जाना वाला ताडोबा राष्ट्रीय उद्यान भारत के सबसे रोमांचक और सर्वश्रेष्ठ संरक्षित टाइगर रिजर्व में से एक है। जिसमें महाराष्ट्र राज्य में सबसे अधिक बाघ दिखाई देते हैं। चंद्रपुर जिले में स्थित ताडोबा राष्ट्रीय उद्यान महाराष्ट्र का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह स्थान वन्यजीवों और प्रकृति प्रेमियों किये वीकेंड पर जाने के लिए एक आदर्श पर्यटन स्थल है। जहाँ आप वनस्पतियों और जीवों की दुर्लभ प्रजातियों को देख सकते है। और साथ यह राष्ट्रीय उद्यान ताडोबा झील, ईराई बांध, मोहरली और खोसला गाँव के लिए भी प्रसिद्ध है। जो ताडोबा राष्ट्रीय उद्यान के आकर्षण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है।

ताडोबा राष्ट्रीय उद्यान की एंट्री फीस – Entry Fee of Tadoba National Park In Hindi

  • 20 रूपये प्रति व्यक्ति
  • 50 रूपये प्रति वाहन

ताडोबा राष्ट्रीय उद्यान खुलने का समय – Timing of Tadoba National Park In Hindi

सुबह 10.00 बजे से शाम 6.00 बजे तक

संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान – Sanjay Gandhi National park In Hindi

संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान - Sanjay Gandhi National park In Hindi
Image Credit : Lakshit Nagar

मुंबई और ठाणे के दो उपनगरों के बीच स्थित, संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान महाराष्ट्र में सबसे अधिक पसंद किये जाने वाले राष्ट्रीय उधानो में से एक है। यह पार्क पिकनिक और सप्ताहांत के लिए आदर्श स्थान है। संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान अपने सदाबहार, घने जंगलों, पक्षियों की आबादी, तितलियों और बाघों की छोटी आबादी के लिए जाना जाता है। आप संजय गांधी नेशनल पार्क की यात्रा में तेंदुए, मैकाक, बोअर्स, लायंस, फ्लाइंग फॉक्स, किंगफिशर, सनबर्ड्स और तितलियों की बिभिन्न प्रजातियों को देख सकते हैं। इसके अलावा पार्क के अन्दर स्थित लगभग 2000 हजार साल पुरानी कान्हेरी गुफाएँ भी पार्क का प्रमुख पर्यटक आकर्षण बना हुआ है। और आपकी जानकारी के लिए बता दे 104 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र को कवर करते हुआ यह पार्क यह हर साल 2 मिलियन से अधिक आगंतुकों के साथ एशिया के सबसे अधिक देखे जाने वाले राष्ट्रीय उद्यानों में से एक है।

संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान का प्रवेश शुल्क : Entry Fee of Sanjay Gandhi National park In Hindi

  • व्यस्क पर्यटकों के लिए : 48 रूपये प्रति व्यक्ति
  • बच्चो के लिए : 25 रूपये

संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान खुलने का समय : Timing of Sanjay Gandhi National park In Hindi

पार्क पर्यटकों के घूमने के लिए प्रतिदिन सुबह 7.00 बजे से शाम 6.30 बजे तक खुला रहता है।

चंदोली नेशनल पार्क – Chandoli National Park In Hindi

चंदोली नेशनल पार्क - Chandoli National Park In Hindi

लगभग 318 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला हुआ चंदोली नेशनल पार्क महाराष्ट्र के प्रमुख राष्ट्रीय उद्यानों में से एक है। हरे-भरे वनस्पतियों से लिपटा हुआ यह राष्ट्रीय उद्यान जानवरों, पक्षियों और सरीसृपों की एक विस्तृत और विशिष्ट विविधता का एक आदर्श निवास स्थान है। चंदोली नेशनल पार्क अपनी रोमांचक जंगल सफारी, बर्ड वॉचिंग, ट्रेकिंग और अन्य गतिविधियों के लिए जाना जाता है। जो पर्यटकों को प्रकृति के असाधारण विचारों को देखने का एक अनूठा अवसर प्रदान करता है। आपको बता दे चंदोली नेशनल पार्क को पहले 1985 में एक वाइल्डलाइफ अभयारण्य के रूप में घोषित किया गया था। जिसे मई 2004 में राष्ट्रीय उद्यान के रूप में घोषित किया गया।

चंदोली नेशनल पार्क का प्रवेश शुल्क : Entry Fee of Chandoli National Park In Hindi

  • 30 रूपये प्रति व्यक्ति
  • 150 रूपये वाहन और जिप्सी

और पढ़े : मध्य प्रदेश में एडवेंचर एक्टिविटीज की 5 खास जगह, जहा दूर दूर से सैलानी आते है मनोरंजन के लिए

गुगामल नेशनल पार्क – Gugamal National Park In Hindi

गुगामल नेशनल पार्क - Gugamal National Park In Hindi

महाराष्ट्र राज्य के अमरावती जिले में स्थित गुगामल नेशनल पार्क एक खूबसूरत है। पार्क मेलघाट टाइगर रिजर्व का एक हिस्सा है और इसे प्रोजेक्ट टाइगर के तहत 1973-74 में टाइगर रिजर्व घोषित किया गया था। जिसे 1975 के वर्ष में एक राष्ट्रीय उद्यान के रूप में घोषित किया गया था। पार्क का कुल क्षेत्रफल लगभग 361.28 Km2 है। मेलघाट टाइगर रिजर्व के एक भाग के रूप में, गुगामल नेशनल पार्क बड़ी संख्या में पर्यटकों को आकर्षित करता है। यह महाराष्ट्र का एकमात्र पार्क है जहां बाघ अभी भी मौजूद हैं। गुगामल नेशनल पार्क सतपुड़ा पर्वत श्रृंखला के भीतर स्थित है जिसे गाविलगढ़ हिल्स के नाम से भी जाना जाता है। और यह पार्क महाराष्ट्र में घूमने के लिए सबसे लोकप्रिय वन्यजीव अभयारण्यों में से एक है, जो प्रत्येक बर्ष कई हजारों पर्यटकों की मेजबानी करता है।

गुगामल नेशनल पार्क की एंट्री फीस – Entry Fee of Gugamal National Park In Hindi

  • व्यस्क भारतीय पर्यटकों के लिए : 30 रूपये प्रति व्यक्ति
  • बच्चो के लिए : 15 रूपये
  • भारतीय स्टूडेंटो के लिए : 15 रूपये
  • विदेशी पर्यटकों के लिए : 60 रूपये
  • विदेशी स्टूडेंटो के लिए : 30 रूपये

नवेगांव राष्ट्रीय उद्यान – Navegaon National Park In Hindi

नवेगांव राष्ट्रीय उद्यान - Navegaon National Park In Hindi
Image Credit : Mayank Khandelwal

महाराष्ट्र के गोंदिया जिले में स्थित नवेगांव राष्ट्रीय उद्यान महाराष्ट्र के सबसे प्रसिद्ध राष्ट्रीय उद्यानों में से एक है। जो नवेगांव की हरी-भरी पहाड़ियों में स्थित है, जहाँ आपको प्राकृतिक वन्यजीवों के लुभावने दृश्य देखने को मिलते हैं। 1800 के दशक में निर्मित, इस पार्क में एक शांत झील और इसके निकट एक प्रहरीदुर्ग भी है। इस पार्क में एक पक्षी अभयारण्य, एक हिरण पार्क, और तीन प्यारे उद्यान भी मजूद है जो नवेगांव राष्ट्रीय उद्यान के आकर्षण को बढ़ा रहे है। आपकी जानकारी के लिए बता दे इस पार्क में स्थित एक पक्षी अभयारण्य को सलीम अली पक्षी अभयारण्य के रूप में जाना जाता है। जिसमे 65% पक्षीयों की प्रजातियाँ पाई जाती हैं। जिन्हें सर्दियों में अक्सर झुण्ड के रूप में देखा जा सकता है। जो पर्यटकों और वन्यजीव प्रेमियों के लिए स्वर्ग के समान माना जाता है।

नवेगांव राष्ट्रीय उद्यान का प्रवेश शुल्क – Entry Fee of Navegaon National Park In Hindi

  • व्यस्क भारतीय पर्यटकों के लिए : 30 रूपये प्रति व्यक्ति
  • बच्चो के लिए : 05 रूपये
  • भारतीय स्टूडेंटो के लिए : 15 रूपये
  • विदेशी पर्यटकों के लिए : 60 रूपये
  • विदेशी स्टूडेंटो के लिए : 30 रूपये

नवेगांव राष्ट्रीय उद्यान खुलने का समय – Timing of Navegaon National Park In Hindi

आपकी जानकारी के लिए बता दे नवेगांव राष्ट्रीय उद्यान पर्यटकों के घूमने के लिए प्रतिदिन सुबह 6.00 बजे से शाम 6.00 बजे तक खुला रहता है।

भीमाशंकर वन्यजीव अभयारण्य – Bhimashankar Wildlife Sanctuary In Hindi

भीमाशंकर वन्यजीव अभयारण्य – Bhimashankar Wildlife Sanctuary In Hindi

भारत के प्रमुख वन्यजीव अभयारण्यों में से एक भीमाशंकर वन्यजीव अभयारण्य पुणे और महाराष्ट्र के एक प्रमुख पर्यटक स्थल के रूप में भी लोकप्रिय है। यह अभयारण्य 120 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला हुआ है, जिसे सह्यादित पर्वत भी कहा जाता है। यह स्थान मुख्य रूप से भारतीय विशालकाय गिलहरी सहित कई स्थानिक और महामारी वाले पशु और पक्षी प्रजातियों का घर है। यह वनस्पतियों और जीवों में इतना समृद्ध है कि इसे दुनिया की जैवविविधता के आकर्षण के प्रमुख केन्द्रों में से एक माना जाता है। और आपको बता दे यह अभयारण्य प्रसिद्ध रूप से 14 पवित्र ग्रोवों का घर होने के लिए भी जाना जाता है, जिन्हें हजारों साल पुराना बताया जाता है। भीमाशंकर वन्यजीव अभयारण्य जंगल के ऐसे क्षेत्र हैं जो एक दिन की पिकनिक के लिए आदर्श स्थान हैं। जहाँ आप वन्यजीवो की बिभिन्न प्रजातियों के साथ साथ ट्रेकिंग जैसी रोमांचक गतिविधियों को भी एन्जॉय कर सकते हैं।

भीमाशंकर वन्यजीव अभयारण्य का प्रवेश शुल्क – Entry Fee of Bhimashankar Wildlife Sanctuary In Hindi

इस पार्क में पर्यटकों के लिए कोई एंट्री फीस नही है लेकिन

  • 2 पहियाँ वाहनों के लिए : 10 रूपये
  • 4 पहियाँ वाहनों के लिए : 50 रूपये
  • हैवी वाहनों के लिए : 100 रूपये

भीमाशंकर वन्यजीव अभयारण्य उद्यान खुलने का समय – Timing of Bhimashankar Wildlife Sanctuary In Hindi

अभ्यारण पर्यटकों के घूमने के लिए प्रतिदिन सुबह 6.00 बजे से शाम 6.00 बजे तक खुला रहता है।

और पढ़े : जाने क्यों है खास मुंबई की एलिफेंटा गुफा

भामरागढ़ वन्यजीव अभयारण्य – Bhamragarh Wildlife Sanctuary In Hindi

भामरागढ़ वन्यजीव अभयारण्य - Bhamragarh Wildlife Sanctuary In Hindi

भामरागढ़ शहर का लोकप्रिय भामरागढ़ वन्यजीव अभयारण्य महाराष्ट्र के चंद्रपुर जिले में स्थित है और यह तेंदुए, नीले बैल, मोर, उड़न गिलहरी, जंगली सूअर सहित विभिन्न जानवरों की प्रजातियों का घर है। यह वन्यजीव अभ्यारण महाराष्ट्र के प्रमुख शहरों के साथ निकटता और  प्राकृतिक सुंदरता के कारण देश के बिभिन्न कोनो से पर्यटकों और वन्यजीव प्रेमियों को अपनी और आकर्षित करता है। लगभग 104.38 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला, अभयारण्य बहुत हरा-भरा है, और नील, तरौता, कूड़ा, आदि की झाड़ियों के साथ आम, जामुन, कुसुम, बांस के पेड़ों सहित पौधे के साम्राज्य से विभिन्न प्रजातियों से आच्छादित है। और पमलगुट्टम और परलकोटा नदियाँ इस अभयारण्य से होकर बहती हैं जो वनस्पतियों और जीवों को पानी प्रदान करती हैं।

मालवन समुद्री अभयारण्य – Malvan Marine Sanctuary In Hindi

मालवन समुद्री अभयारण्य - Malvan Marine Sanctuary In Hindi

महाराष्ट्र के सिंधुदुर्ग से लगभग 57 किलोमीटर की दूरी पर स्थित मालवन समुद्री अभयारण्य महाराष्ट्र के लोकप्रिय अभ्यारणयों में से एक है। और इस अभ्यारण को 1987 में जैविक रूप से समृद्ध तटीय क्षेत्र को संरक्षित करने के लिए स्थापित किया गया था। जो महाराष्ट्र के प्रमुख पर्यटक आकर्षणों में से एक है। आपको बता दे अभयारण्य का मुख्य क्षेत्र 27 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है। जो कोरल, पर्ल सीप, समुद्री शैवाल, मोलस्क और मछली की 30 से अधिक प्रजातियों सहित समुद्री वनस्पतियों और जीवों के लिए एक अनुकूल वातावरण प्रदान करता है। मालवन समुद्री अभयारण्य का क्षेत्र बहुत ही शांत और खुबसूरत है। जो बड़ी संख्या में पर्यटकों को और नेचर प्रेमियों को आकर्षित करता है।

मालवन समुद्री अभयारण्य खुलने का समय – Timing of Malvan Marine Sanctuary In Hindi

मालवन समुद्री अभयारण्य पर्यटकों के घूमने के लिए प्रतिदिन सुबह 9.00 बजे से शाम 5.00 बजे तक खुला रहता है।

कर्नाला पक्षी अभयारण्य – Karnala Bird Sanctuary In Hindi

कर्नाला पक्षी अभयारण्य - Karnala Bird Sanctuary In Hindi

मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे से थोड़ी दूरी पर स्थित कर्नाला पक्षी अभयारण्य महाराष्ट्र के प्रसिद्ध पक्षी अभयारण्यों में एक है। कर्नाला पक्षी अभयारण्य पर्यटकों और वर्ड वाचिंग के प्रिय लोगो के लिए स्वर्ग के समान है, जहाँ आप पक्षीयों की बिभिन्न प्रजातियों को निकटता से देख सकते हैं। कर्नाला अभयारण्य पक्षी देखने वालों के साथ-साथ पैदल यात्रियों के बीच भी लोकप्रिय है जो अपने शहरों के व्यस्तता भरी जिन्दगी से दूर कुछ समय प्राकृतिक सुन्दरता के बीच जंगलों में व्यतीत करना चाहते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दे कर्नाला पक्षी अभयारण्य 1968 में स्थापित किया गया था और शुरू में यह 4.45 वर्ग किमी क्षेत्र में फैला हुआ था। लेकिन इसकी लोकप्रियता को देखते हुए इस अभ्यारण को 2003 में 12.11 वर्ग किमी कर दिया गया था।

कर्नाला पक्षी अभयारण्य का प्रवेश शुल्क – Entry fee of Karnala Bird Sanctuary In Hindi

  • 35 रूपये प्रति व्यक्ति

कर्नाला पक्षी अभयारण्य खुलने का समय – Timing of Karnala Bird Sanctuary

  • यह अभ्यारण पर्यटकों के घूमने के लिए सुबह 7.00 बजे से शाम 5.00 बजे तक खुलता है।

फांसद पक्षी अभयारण्य – Phansad Bird Sanctuary In Hindi

फांसद पक्षी अभयारण्य - Phansad Bird Sanctuary In Hindi

मुंबई से लगभग 140 किमी दूरी पर स्थित फांसद पक्षी अभयारण्य एक आकर्षक पर्यटक स्थल है। जहाँ पक्षीयों की बिभिन्न प्रजातियों को देख जा सकता है। और आपकी जानकारी के लिए बता दे फांसद पक्षी अभयारण्य में पक्षीयों की विस्तृत प्रजातियों के साथ साथ स्तनधारी वन्यजीवो की प्रजातियां भी पाई जाती है। फांसद पक्षी अभयारण्य की हरी भरी हरियाली और विविध जीव-जंतु पर्यटकों के मन को तरोताजा कर देते हैं। फांसद पक्षी अभयारण्य की यात्रा आपके लिए एक आकर्षक अनुभव हो सकता है। जहाँ आप पक्षीयों की बिभिन्न प्रजातियों की मधुर आबाज के मध्य अपना कुछ समय व्यतीत कर सकते हैं।

और पढ़े : उत्तराखंड के राष्ट्रीय उद्यानों एवं अभयारण्यों की सूची

नागज़ीरा वन्यजीव अभयारण्य – Nagzira Wildlife Sanctuary In Hindi

नागज़ीरा वन्यजीव अभयारण्य - Nagzira Wildlife Sanctuary In Hindi

महाराष्ट्र के नागपुर के पास स्थित नागज़ीरा वन्यजीव अभयारण्य एक समृद्ध जैव विविधता पार्क है। पार्क में विभिन्न प्रकार की वनस्पतियों, जीवों, पक्षियों और विदेशी पौधों की प्रजातियां पाई जाती हैं। यह अभ्यारण प्राकृतिक नालों, हरे-भरे वनस्पतियों से भरा हुआ है जो प्रकृति की विशिष्टता का पता लगाने के लिए एक शानदार गंतव्य के रूप में कार्य करता है। साथ ही नागज़ीरा वन्यजीव अभयारण्य यहाँ आने वाले मेहमानों के आवास की सुविधा के लिए एक झोपड़ी भी है जो अपने आप में एक अनूठा अनुभव है। जो बड़ी संख्या में पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करने में कामयाब होता है।

नागज़ीरा वन्यजीव अभयारण्य की एंट्री फीस – Entry fee of Nagzira Wildlife In Hindi Sanctuary

  • व्यस्क पर्यटकों के लिए : 20 रूपये
  • गाइड के लिए : 200 रूपये
  • वाहन के लिए : 50 रूपये
  • कैमरा के लिए : 10 रूपये

नागज़ीरा वन्यजीव अभयारण्य खुलने का समय – Timing of Nagzira Wildlife Sanctuary In Hindi

नागज़ीरा वन्यजीव अभयारण्य पर्यटकों के घूमने के लिए सुबह 6.00 बजे से 10.00 बजे तक और 3.00 बजे से शाम 7.00 बजे तक खुलता है।

रेहेकुरी ब्लैकबक अभयारण्य – Rehekuri Blackbuck Sanctuary In Hindi

रेहेखुरी ब्लैकबक अभयारण्य - Rehekuri Blackbuck Sanctuary In Hindi
Image Credit : Range Forest Officer

2.17 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला, रेहेकुरी अभयारण्य भारत के कुछ दुर्लभ और प्रसिद्ध जानवरों में से एक ब्लैक बक का घर है। यह अभयारण्य अहमदनगर शहर से लगभग 80 किमी की दूरी पर कर्जत तालुक में स्थित है। रेहेकुरी ब्लैकबक अभयारण्य 1980 के दशक में स्थापित किया गया था। एक समय में इस स्थान पर ब्लैकबक्स की संख्या घटकर 15 हो गई थी। लेकिन आज रेहेकुरी अभ्यारण लगभग  400 ब्लैकबक्स का घर है, जो इसे निरंतर संरक्षण का एक उत्कृष्ट उदाहरण बनाता है। इसके अलावा अभयारण्य में विभिन्न अन्य वन्यजीवों और पक्षियों को भी देखा जा सकता है। और एक गाइड के साथ घूमना या ट्रेकिंग करना अभयारण्य का पता लगाने का सबसे अच्छा तरीका है। जो पर्यटकों और वन्यजीव प्रेमियों की पसंद भी बनी हुई है।

दाजीपुर वन्यजीव अभयारण्य – Dajipur Wildlife Sanctuary In Hindi

दाजीपुर वन्यजीव अभयारण्य - Dajipur Wildlife Sanctuary In Hindi

बता दे कुछ सौ बर्षो पहले दाजीपुर वन्यजीव अभयारण्य कोल्हापुर के महाराजा का शिकार मैदान था। जिसे 1985 में वन्यजीव अभयारण्य घोषित किया गया था। बता दे दाजीपुर वन्यजीव अभयारण्य बाइसन अभयारण्य के रूप में भी जाना जाता है, यह स्थान भारतीय बाइसन या गौर के लिए लोकप्रिय है। पर्यटक दाजीपुर वन्यजीव अभयारण्य के यात्रा के दौरान भारतीय बाइसन के अलावा भी तेंदुआ, बाघ, आलसी भालू सहित अन्य वन्य जीवों को देख सकते हैं। दाजीपुर वन्यजीव अभयारण्य महाराष्ट्र में घूमने के लिए सबसे अच्छे और लोकप्रिय राष्ट्रीय उद्यानों में से एक है।

दाजीपुर वन्यजीव अभयारण्य का प्रवेश शुल्क – Entry fee of Dajipur Wildlife Sanctuary In Hindi

  • पर्यटकों के लिए : 50 रूपये प्रति व्यक्ति
  • निजी वाहन : 100 रूपये
  • किराये पर वाहन : 2000 और उससे अधिक वो आपके वाहन चुनने पर निर्भर करता है

दाजीपुर वन्यजीव अभयारण्य खुलने का समय – Timing of Dajipur Wildlife In Hindi Sanctuary

बात दे दाजीपुर वन्यजीव अभयारण्य पर्यटकों के घूमने के लिए सुबह 6.00 बजे से शाम 6.00 बजे तक खुलता है।

और पढ़े :

Leave a Comment