हम्पी के मशहूर चेरियट पत्थर से बने मंदिर की पूरी जानकरी – Chariot Temple Hampi Information In Hindi

Chariot Temple Hampi In Hindi, हम्पी का रथ कर्णाटक राज्य में बेल्लारी जिले के होसापेट नामक तालुके में स्थित एक छोटा से गाँव हैं। चेरियट पत्थर से बना यह हम्पी का रथ एक आकर्षित और भव्य मंदिर जोकि पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता हैं। हम्पी के रथ को विट्ठल मंदिर के नाम से भी जाना जाता है यह मंदिर यूनेस्को की विश्व धरोहर के रूप में भी शामिल किया जा चुका हैं। हम्पी का चेरियट मंदिर विट्ठल मंदिर के परिसर के अन्दर स्थित है। यह पत्थरों के रथ का मंदिर हम्पी का प्रमुख आकर्षण हैं और अपनी संरचना से हर पर्यटक को मोहित करता है। गरुण भगवान को समर्पित इस मंदिर में पहले रथ के ऊपर गरुड़ के बैठने की एक विशाल मूर्ति हुआ करती थी। लेकिन अब यहाँ से मूर्ति हटा दी गई है और यह एक खंडहर बन गया है। हम्पी का पत्थर रथ का मंदिर भारत के तीन प्रसिद्ध रथों में से एक है जिसमे से एक कोणार्क में सूर्य मंदिर और दूसरा महाबलिपुरम में स्थित है। ग्रे नाईट के स्लैब पत्थरों से बना यह मंदिर अपने आप में बहुत महत्त्व रखता है। मंदिर के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आपको हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढने की आवश्यकता है।

1. हम्पी रथ मंदिर का इतिहास – Chariot Stone History In Hindi

हम्पी रथ मंदिर का इतिहास

हम्पी रथ मंदिर का इतिहास 16 वी शताब्दी से सामने आया था। हम्पी तुंगभद्रा नदी के तट पर स्थित है और इस पत्थर के अनौखे रथ का निर्माण विजयनगर साम्राज्य के राजा कृष्णदेव ने करवाया था। जब राजा कृष्ण देव ओडिशा में युद्ध करने गए थे तो कोणार्क के सूर्य मंदिर में स्थित रथ को देखकर उन्होंने अपने साम्राज्य में भी उसी प्रकार का पत्थरों से निर्मित रथ का निर्माण करने का दृढ संकल्प ले लिया। फिर उन्होंने हम्पी में इस पत्थर के रथ का निर्माण करवाया। भारत के प्रसिद्ध स्थलों में से यह मंदिर भी यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर के रूप में जाना जाता है। भारत सरकार ने हम्पी रथ मंदिर को 50 रूपए के नोट पर भी अंकित किया है।

2. चेरियट विट्ठल मंदिर हम्पी की कहानी – Hampi Chariot Temple Story In Hindi

चेरियट मंदिर हम्पी के पत्थर की कहानी कुछ इस प्रकार है कि पौराणिक कथाओं में कहा गया है कि भगवान विष्णु का वाहन गरुण हैं। जोकि इस भव्य मंदिर का मुख्य देवता है। पहले चेरियट मंदिर में रथ के ऊपर भगवान गरुण की मूर्ति स्थापित थी परन्तु अब इसे हटा दिया गया है।

और पढ़े: कर्नाटक के टॉप 10 पर्यटन स्थलों की जानकारी 

3. चेरियट पत्थर से बने मंदिर की संरचना – Stone Chariot Hampi Architecture In Hindi

चरियट पत्थर से बने मंदिर की संरचना

चेरियट मंदिर हम्पी में स्थित रथ की संरचना बहुत ही अद्भुत है। पत्थरों से निर्मित इस रथ को ग्रेनाइट के स्लैब द्वारा बनाया गया है। द्रविड़ शैली से बने हुए इस रथ में चार पहिये है और सामने दो हाथी है जो ऐसे लगते है जैसे रथ को खीच रहे है। पहले इस रथ में हाथियों के साथ घोड़े भी थे परन्तु रथ क्षतिग्रस्त हो जाने के कारण अब घोड़ो के पैर ही दिखाई देते है। इन हाथियों के बीच से मंदिर में गरुण भगवान के शीर्ष तक पहुँचने के लिए सीढ़ी भी बनी हुई थी परन्तु अब वह भी नष्ट हो चुकी है। यह मंदिर पहले के कारीगरों और वास्तुकारों के कौशल को दर्शाता है। यह मंदिर पत्थरों से निर्मित होने के कारण यह एक ठोस संरचना के एक एकल टुकड़े जैसा दिखता है। सन 1856 में अलेक्जेंडर ग्रीनलाव द्वारा ली गई तस्वीर में आप हम्पी के मंदिर की शानदार संरचना देखने को मिलती है।

4. चेरियट मंदिर हम्पी किसने बनवाया था – Who Built Chariot Temple Hampi In Hindi

हंपी का प्रसिद्ध पत्थरों का रथ मंदिर का निर्माण विजय नगर साम्राज्य के राजा कृष्ण देव ने करवाया था।

5. हम्पी रथ मंदिर का निर्माण कब हुआ था – When Was Stone Chariot Built In Hindi

हंपी के चेरियट मंदिर का निर्माण 16 वी शताब्दी में करवाया गया था।

6. विट्ठल मंदिर हम्पी का क्षेत्रफल – Area Of Chariot Temple Hampi In Hindi

विट्ठल मंदिर हम्पी का क्षेत्रफल

हंपी के पत्थरों से निर्मित शानदार रथ के मंदिर का कुल क्षेत्रफल लगभग 26 वर्ग किलोमीटर है। जोकि बिट्ठल मंदिर के परिसर के अन्दर आता है।

और पढ़े: हम्पी घूमने की जानकारी और 30 पर्यटक स्थल

7. कौन सा नोट हम्पी के चेरियट पत्थर को प्रदर्शित करता है – Which Note Displays Hampi’s Stone Chariot In Hindi

हंपी के “स्टोन रथ” को आर.बी.आई. द्वारा जारी किये गए 50 रूपए के नोट पर प्रदर्शित किया गया है जिसमे कर्णाटक की विरासत को दर्शाया गया है। इस नए 50 रूपए के नोट का रंग फ्लोरोसेंट नीला है। जिस पर हंपी का यह चेरियट पत्थर का रथ बना हुआ है।

8. हम्पी चेरियट रथ मंदिर का प्रसिद्ध त्यौहार – Hampi Chariot Temple Famous Festival In Hindi

हंपी के पत्थरों के विशाल रथ मंदिर के प्रसिद्ध त्यौहारों में से हम्पी के रथ मंदिर में विजय उत्सव बहुत धूम-धाम से मनाया जाता है। यह उत्सव विजय नगर के शासन के समय इस इस पवित्र और प्रसिद्ध स्थान पर मनाया जा रहा है।

9. चेरियट मंदिर हम्पी के बारे में रोचक तथ्य – Interesting Facts About Chariot Temple Hampi In Hindi

चरियट मंदिर हम्पी के बारे में रोचक तथ्य
Image Credit: Rohan Raj
  • हंपी का रथ मंदिर 26 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है।
  • हंपी के ग्रामीणों का मानना है कि अगर यह रथ अपने स्थान से हटेगा तो दुनिया भी रुक जाएगी।
  • भगवान राम और लक्ष्मण ने इस स्थान की यात्रा की थी।
  • ग्रामीणों का मानना ​​है कि रथ के अंदर की मूर्ति ब्रिटिश लोगों द्वारा चुराई गई थी और यह अभी भी है ब्रिटेन में कहीं है।
  • यह एक ऐसी जगह थी जहाँ प्राचीन समय में नृत्य कार्यक्रम हुआ करते थे।
  • हंपी के रथ के हर भाग को अलग-अलग कर सकते है।
  • रथ के पहिये को अलग से भी घुमाया जा सकता है।
  • रथ के ऊपर बने 56 संगीतमय स्तम्भ या खम्बो को बजाने से उनमे संगीत निकलता है।

10. चेरियट मंदिर हम्पी खुलने तथा बंद होने का समय – Hampi Chariot Temple Timing In Hindi

हम्पी का प्रसिद्ध चेरियट मंदिर सप्ताह के सभी दिन खुला रहता है। हम्पी के इस शानदार मंदिर के खुलने तथा बंद होने का समय हर पर्यटक को जानना बहुत जरुरी है। हम आपको बता दे कि मंदिर सुबह 8:30 से शाम 5 बजे तक खुला रहता है।

11. चरियट मंदिर हम्पी का प्रवेश शुल्क – Hampi Stone Chariot Temple Entry Fee In Hindi

चरियट मंदिर हम्पी का प्रवेश शुल्क
Image Credit: Manasa Mandara

चेरियट मंदिर हम्पी अपनी भव्यता के साथ पर्यटकों को बहुत सारी सुविधाएं भी देता है। हम्पी के रथ मंदिर को देखने में यहाँ पूजा अर्चना करने में कोई भी शुल्क नही लगता है।

और पढ़े: भारत में यूनेस्को के विश्व विरासत स्थल 

12. चेरियट मंदिर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Hampi Stone Chariot Temple In Hindi

स्टोन चेरियट टेम्पल या पत्थरों के रथ का मंदिर हम्पी का प्रमुख आकर्षण स्थल है जहां घूमने जाने का सबसे अच्छा समय नवम्बर से फरवरी माह के बीच का होता है। नवंबर से फरवरी माह में यहाँ ठंडा मौसम रहता है।

13. हंपी में खान के लिए प्रसिद्ध भोजन – Famous Food In Hampi In Hindi

हंपी में खान के लिए प्रसिद्ध भोजन

हम्पी के प्रसिद्ध व्यंजनों में फूलगोभी मंचूरियन, फ्राइड राइस और वेजिटेबल करी शामिल है। उत्तरी कर्नाटक के भोजन या व्यंजनों में प्राथमिक अनाज के रूप में जोला और चावल अधिक होते हैं और दक्षिण कर्नाटक में रागी और चावल होते हैं।

14. हम्पी में कहाँ रुके – Where To Stay In Hampi In Hindi

हम्पी में कहाँ रुके

हम्पी के चेरियट मंदिर घूमने के बाद यदि आप हम्पी में कुछ दिन और व्यतीत करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि हम्पी में आपको लो-बजट से लेकर हाई-बजट तक होटल उपलब्ध है। आप अपनी सुविधा के अनुसार किसी भी होटल का चयन कर सकते है।

  • विनायक होमस्टे (Vinayak Homestay)
  • लक्ष्मी हेरिटेज टूरिस्ट होम (Laxmi Heritage Tourist Home)
  • रेवानाथ होमस्टे हम्पी (Revanath Homestay Hampi)
  • शंकर होमस्टे (Shankar Homestay)
  • पद्मा गेस्ट हाउस (Padma Guest House)

और पढ़े: भारत के प्रमुख ऐतिहासिक स्थल 

15. हम्पी कर्नाटक कैसे पंहुचा जाये – How To Reach Hampi Karnataka In Hindi

अगर आपने हम्पी में स्थित इस भव्य पत्थरों के रथ मंदिर की यात्रा की योजना बनाई है तो हम आपको बता दे कि हम्पी भारत के सभी शहरों से जुड़ा हुआ है। आप हम्पी जाने के लिए हवाई मार्ग, रेलमार्ग या फिर सड़क मार्ग में से किसी का भी चुनाव कर सकते है।

15.1 हवाई जहाज से हम्पी कैसे पहुँचे – How To Reach Hampi By Flight In Hindi

हवाई जहाज से हम्पी कैसे पहुँचे

अगर आपने हम्पी हवाई मार्ग से जाने की योजना बनाई है तो हम आपको बता दे कि हम्पी का अपना कोई हवाई अड्डा नही है। परन्तु हम्पी से लगभग 64 किलोमीटर दूर बेल्लोरी हवाई अड्डा है जोकि भारत के विभिन्न शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। आप बेल्लोरी हवाई अड्डे से कोई स्थानीय साधन के माध्यम से हम्पी आसानी से पहुँच सकते है।

15.2 ट्रेन से हम्पी कैसे पहुँचे – How To Reach Hampi By Train In Hindi

ट्रेन से हम्पी कैसे पहुँचे

अगर आपने हम्पी की यात्रा के लिए रेलवे मार्ग का चुनाव किया हैं तो हम आपको बता दे कि हम्पी से लगभग 10 किलोमीटर दूर होसापेट रेलवे स्टेशन है जोकि हम्पी का सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन है। आप भारत के किसी भी शहर से आसानी से हम्पी पहुँच सकते है।

15.3 बस से हम्पी कैसे पहुँचे – How To Reach Hampi By Bus In Hindi

बस से हम्पी कैसे पहुँचे

अगर आपने सड़क मार्ग से हम्पी जाने की योजना बनाई है तो हम आपको बता दे कि भारत के बैंगलोर और मैसूर जैसे बड़े शहरों से कई बसे नियमित रूप से हम्पी के लिए उपलब्ध है। जोकि आपको आसानी से हम्पी पहुंचा सकती है। हम्पी पहुँच कर आप कोई टैक्सी किराए पर लेकर हम्पी के आकर्षक पत्थरों के रथ के मंदिर के दर्शन के लिए पहुँच सकते है।

और पढ़े: पटवों की हवेली का इतिहास और खास बातें

16. चेरियट मंदिर हम्पी का नक्शा – Hampi Stone Chariot Temple Map

17. चेरियट मंदिर की फोटो गैलरी – Hampi Stone Chariot Temple Images

और पढ़े:

Leave a Comment