इमिग्रेशन क्या है? इमीग्रेशन में होने वाली दिक्कत और कुछ टिप्स

Immigration In Hindi, इमीग्रेशन (Immigration) जब किसी एक देश का नागरिक किसी अन्य देश में जाकर रहने लगता है तो उसे इमीग्रेशन कहा जाता है। जब किसी एक देश का नागरिक किसी दूसरे देश जानकर वहां का निवासी बन जाता है जहां की उसे नागरिकता प्राप्त नहीं हो।

1. इमीग्रेशन और उत्प्रवास में अंतर – Difference Between Immigration And Emigration In Hindi

बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो किसी दूसरे देश जाकर व्यवसाय करना चाहते हैं और वही की नागरिकता ले लेते हैं। जब कोई व्यक्ति किसी एक देश को छोड़कर हम्रेशा के लिए दूसरे देश की नागरिकता ले लेता है तो इसे उत्प्रवास (Emigration) कहते हैं। लेकिन इमीग्रेशन (Immigration) में वो उस देश का नागरिक नहीं होता।

2. इमीग्रेशन में होने वाली दिक्कत – Common Immigration Challenges In India In Hindi

बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिनकी अंग्रेजी कमजोर है या उनको अंग्रेजी में बातचीत करने में दिक्कत होती है जिसकी वजह से जब वे लोग विदेश की यात्रा करते हैं तो उनसे जब हवाई अड्डे पर अंग्रेजी में सबसे आम इमीग्रेशन प्रश्न पूछे जाते हैं तो उनके काफी कठिनाई का सामना करना पड़ता है। अंग्रेजी आज एक एक अंतरराष्ट्रीय भाषा जिसका थोड़ा ज्ञान सभी को होना चाहिए। लेकिन अगर आपको अंग्रेजी नहीं आती तो इसका यह मतलब नहीं की आप विदेश की यात्रा नहीं कर सकते। जब कोई भारतीय थाईलैंड और दक्षिण पूर्व एशिया में यात्रा करते हैं तो यहां, इमीग्रेशन बहुत आसान और सरल है, लेकिन संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्रिटेन या यूरोप जैसे पश्चिमी देशों में यह आपके लिए थोड़ा कठिन हो सकता है। वे लोग आपसे अपना पासपोर्ट-वीजा दिखाने के लिए कह सकते हैं।

और पढ़े: पासपोर्ट कैसे बनवाएं, पासपोर्ट के बारे में पूरी जानकारी 

3. अंग्रेजी की वजह से इमीग्रेशन में होने वाली दिक्कत – Language Barrier For Immigrants In Hindi

अंग्रेजी की वजह से इमीग्रेशन में होने वाली दिक्कत

कई बार ऐसा होता है की जब आप किसी विदेशी यात्रा पर जाते हैं और वहां लोग आप पर संदेह करने लगते हैं जैसे कि आप क्या करते हैं और कितने समय के लिए यहां रहने वाले हैं, भले ही आप अपनी जगह सही हैं लेकिन कमजोर इंग्लिश होने की वजह से आप उनके प्रश्नों का उत्तर देने में असमर्थ होते हैं।

जब आप अपने देश में होते हैं तो इमिग्रेशन के हिंदी या किसी अन्य स्थानीय भाषा में पूछे जाते हैं, लेकिन लेकिन किसी अन्य देश में देश में, इमिग्रेशन केवल अंग्रेजी में होने की संभावना होती है। ऐसे में कमजोर अंग्रेजी वाला जब अकेले यात्रा कर रहा हो तो सवालों के उत्तर देने में थोड़ी परेशानी हो सकती है

4. अगर अंगेजी नहीं आती तो इमीग्रेशन में मदद करेंगी यह टिप्स – Tips For Immigration In Hindi

जिन भी यात्रियों को अंग्रेजी नहीं आती वे लोग हवाई अड्डे के इमीग्रेशन के समय ये 4 काम कर सकते हैं।

4.1 अपने सह-यात्री की मदद लें

अगर आप अपने दोस्त या परिवार के किसी सदस्य के साथ यात्रा कर रहे हैं और यदि उनकी अंग्रेजी अच्छी है, तो वे इमीग्रेशन सवालों के जवाब देने के लिए उनकी मदद ले सकते हैं। भारत कई बार कम पढ़े लिखे माता-पिता अपने कामकाजी बेटे या बेटियों को विदेश में काम करने के लिए जाते हैं, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि वे लोग हवाई अड्डे पर आप्रवासन को कैसे क्लियर करते हैं। ऐसे में वे लोग भी अपने परिवार के सदस्य की मदद लेते हैं और उन्हें किसी समस्या का सामना भी नहीं करना पड़ता।

4.2 इमीग्रेशन प्रश्न को एक पेपर पर लिख लें

अगर आप अकेले यात्रा कर रहें हैं और कोई भी आपकी मदद करने के लिए नहीं है तो आप पहले से ही एक कागज कुछ सबसे आम इमीग्रेशन प्रश्न प्राप्त कर सकते हैं और इसे इमीग्रेशन अधिकारियों को दिखा सकते हैं।

4.3 हवाई अड्डे पर उपलब्ध ट्रांसलेशन सेवा का लाभ उठा सकते हैं

अगर आपकी अंग्रेजी कमजोर है तो आपको इमीग्रेशन से प्रश्नों को लेकर ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं है। बता दें कि कुछ लोकप्रिय हवाई अड्डों पर क्षेत्रीय भाषाओं में आप्रवासन की सुविधा के लिए अनुवाद सेवाएं या दुभाषिए भी उपलब्ध होते हैं। जैसे लंदन हवाई अड्डे पर बहुत सारे ऐसे यात्री पहुंचते हैं जो अंग्रेजी नहीं बोल पाते। ऐसे में वे लोग वे हिंदी बोलने वाले इमीग्रेशन अधिकारियों की मदद भी ले सकते हैं।

4.4 अपने रिश्तेदारों को कॉल कर सकते हैं

अगर आपको इमीग्रेशन में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है और कोई आपकी मदद करने के लिए तैयार नहीं है तो आप अपने रिश्तेदार, दोस्त या परिवार के किसी सदस्य को कॉल करके उनकी मदद ले सकते हैं। कॉल पर आप इमीग्रेशन आधिकारी की बात अपने परिवार के सदस्य से करवा सकते हैं और वे उनसे आपकी यात्रा के बारे में सवाल पूछेगा।

और पढ़े:

Leave a Comment